Exclusive: WHO interest in Ayurveda: आयुर्वेद के कोरोना इलाज में WHO ने दिखाई रुचि

Exclusive: WHO interest in Ayurveda: कोरोना के समय आयुर्वेदिक दवाओं के बेहतरीन असर को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय जगत भी इससे बहुत प्रभावित हुआ है। इन दवाओं का इस्तेमाल और आयुर्वेदिक उपचार के बारे में जानकारी के लिए वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने आयुर्वेद पर एक बैठक की है। पिछले दिनों हुई इस बैठक में आयुष मंत्रालय ने WHO की इंटरनेशनल रेगुलेटरी ऑफ हर्बल मेडिसिन्स (IRCH) टीम को आयुर्वेदिक उपचार पर एक प्रसेंटेशन भी दी थी। साथ ही पूरी दुनिया में आयुर्वेदिक उपचार के जरिए कोरोना संक्रमितों को ठीक किया जा सकता है। इस बारे में आयुर्वेद में इस तरह की महामारी के इलाज के बारे में भी बताया था।
आयुष मंत्रालय के सलाहकार वैद्य मनोज नेसारी ने www.ayurvedindian.com को बताया कि, जिस तरह से कोरोना में आयुर्वेद के जरिए इलाज किया जा रहा है, उससे पूरी दुनिया में आयुर्वेद को लेकर जिज्ञासा बढ़ी है। लिहाजा खुद WHO की टीम हाल ही में मंत्रालय आई थी। उन्होंने आयुर्वेद में कोरोना के इलाज में इस्तेमाल की जा रही दवाओं और इलाज के बारे में जानकारी ली है। ताकि भारत में आयुर्वेद के जरिए से कोरोना काल में जो काम किया है। उसको पूरी दुनिया को बताया जाए। 25 नवंबर को WHO की टीम ने आकर आयुष मंत्रालय के अधिकारियों के साथ एक बैठक की थी। जिसमें आयुष की दवाओं के बारे में पूरी जानकारी दी गई है।
दरअसल दुनियाभर में आयुर्वेद और आयुष की दवाओं के बारे में अब काफी जागरूकता आई है। भारत आयुर्वेदिक और हर्बल दवाओं के उत्पादन वाला प्रमुख देश है और इन दवाओं के जरिए भारत में काफी लोगों ने कोरोना का इलाज कराया है। इसको लेकर ही WHO ने भी रुचि दिखाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.