Allergy treatment in Ayurveda: लाइलाज़ सी लगने वाली एलर्जी का आयुर्वेदिक इलाज़

Allergy treatment in Ayurveda: आजकल लोगों को एलर्जी होना बहुत ही आम बात हो गई है, लोगों को लगातार किसी ना किसी खाने या किसी अन्य खाद्य उत्पाद से एलर्जी हो, किसी को किसी ख़ास किस्म की सुंगध या दुर्गंध से एलर्जी हो जाती है। कपड़ों से भी लोगों को एलर्जी हो जाती है। लोग अक्सर बहुत कोशिशों के बाद भी उस बीमारी से निजात पाने की कोशिशें करते हैं। लेकिन फिर भी कई बार पूरी पूरी जिंदगी एलर्जी के साथ निकल जाती हैं। लेकिन आयुर्वेद के जरिए इन लाइलाज लगने वाली बीमारियों को दूर किया जा सकता है।

प्रकृतिक चिकित्सक: वंदना त्यागी

एलर्जी पर बहुत सारे मरीज़ों को ठीक कर चुकी प्रकृतिक चिकित्सक वंदना त्यागी के मुताबिक आयुर्वेद-प्रकृतिक चिकित्सा में एलर्जी को जड़ से खत्म करने के लिए बहुत ही विस्तार से बताया गया है। आयुर्वेद में इन बीमारियों मूल मौसम, दिनों और में छुपा हुआ है। यानि मौसम के हिसाब से अगर हम अपने शरीर को डिटॉक्सीफाई करते हैं तो हम इन एलर्जी से दूर हो सकते हैं।

पंचकर्म अपनाएं

एलर्जी को दूर करने या अन्य बीमारियों को दूर रखने के लिए हमें साल में तीन बार अपने शरीर को डिटॉक्स पंचकर्म के जरिए जरुर करना चाहिए। किसी आयुर्वेद के वैद्य से मिलकर अपने शरीर और मौसम के मुताबिक कौन सा पंचकर्म किया जाना चाहिए, ये पता करके उसे कराना चाहिए। इससे हमारे शरीर में खून का दौरा अच्छा होता है, इसके साथ साथ हमारे शरीर में एंटी एलर्जी तत्व भी काम करने लगते हैं। जोकि किसी भी तरह की एलर्जी से हमें बचाते हैं। हमारा डिटॉक्सिफिकेशन को कम करने के लिए आयुर्वेद बहुत ही बेहतर काम करता है।

डाइट प्लान

आयुर्वेद में हर व्यक्ति और मौसम-समय के हिसाब से लोगों का खानपान तय किया जाता है। जोकि स्वस्थ्य से लेकर बीमार सभी को फॉलो करना चाहिए। किसी आयुर्वेद के वैद्य के पास जाएं को फिर अपने शरीर की प्रवृति के हिसाब से अपनी डाइट पता करें। जोकि बहुत ही आसान तरीका है। इसको पूरी तरह से अपनाएं तो पाएंगे कि सिर्फ एलर्जी ही नहीं ये आपके शरीर को स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत ही बेहतर कर देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.