Ayurveda Treatment in Heat stroke: लू लगने पर आयुर्वेदिक इलाज है रामबाण

Lemon Juice

Lemon Juice

Ayurveda Treatment in Heat stroke: पूरे उत्तर भारत (North India) में इन दिनों भयंकर गर्मी और लू चल रही हैं। तापमान कई जगहों पर तो 40 डिग्री से ऊपर चल रहा है। ऐसे में गर्मी की वजह से लू लगने की वजह से बहुत से लोग बीमार हो जाते हैं।आयुर्वेद के मुताबिक, लू लगने पर प्याज, पुदीना और नींबू से इसको आसानी से ठीक किया जा सकता है। भारत में हज़ारों सालों से गर्मियों में इनका उपयोग कर लू का इलाज किया जा रहा है। हालांकि स्थिति काबू में नहीं आने पर तुरंत किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक को दिखाना चाहिए।

नींबू (Lemon)

अगर किसी को लू लग गई है और उल्टी-दस्त हो रहे हैं तो उसे एक गिलास पानी में एक नींबू को निचोड़ लें और फिर उसमें एक चम्मच खांड मिलाकर शिकंजी बना लगें। इसे दिन में कई बार पिलाएं।

प्याज (Onion)

अगर किसी को लू (Heat stock) लग गई है तो प्याज के जरिए इसको आसानी से ठीक किया जा सकता है। प्याज में गर्मी से लड़ने की ताकत होती है। अगर रोगी को प्याज का रस थोड़ी थोड़ी देर बाद देते रहेंगे, लू काबू में आ जाएगी।

धनिया (Coriander)

गर्मियों में धनिया भी खूब आता है। ये भी लू लगने में एक बहुत ही बेहतरीन औषधि के तौर पर काम करती है। एक लीटर पानी में 100 ग्राम धनिया पत्ती को उबालें, जब ये पानी एक चौथाई रह जाए तो इस ठंडा करें और मिश्री के साथ थोड़ा थोड़ा कर पीएं। इससे लू पर तुरंत काबू आएगा और शरीर में पानी की कमी दूर होगी।

पुदीना (Mint)

पुदीना भी लू लगने और उल्टी दस्त में बहुत काम आता है। आयुर्वेद में इसका गर्मियों में लगातार इस्तेमाल के लिए कहा जाता रहा है। इसकी चटनी भी भारत में बहुत मशहूर है। अगर किसी को लू लग गई है तो पांच ग्राम पुदीने को पीसें और उसमें थोड़ा नमक मिलाकर पानी के साथ लेने पर लू तुरंत ठीक होती है। उल्टी दस्त में भी ये तुरंत काम करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.