डायबिटीज के मरीजों के लिए सुरक्षित है गुड़ खाना, जानिए क्या है सच्चाई

Date:

डायबिटीज एक ऐसी स्थिति है जिसमें आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ने लगता है। डायबिटीज दो तरह की होती है, टाइप-1 और टाइप-2। सीधे शब्दों में कहें तो टाइप-1 डायबिटीज वो है जिसमें हमारी इम्यून सिस्टम इंसुलिन पैदा करने वाली कोशिकाओं को नष्ट कर देती है। जबकि, टाइप-2 डायबिटीज में शरीर पैनक्रियाज द्वारा उत्पादित इंसुलिन का इस्तेमाल नहीं कर पाता है।

टाइप-1 की तुलना में टाइप-2 डायबिटीज के मामले ज्यादा देखने को मिलते हैं। अगर इसे सही तरीके से मैनेज नहीं किया गया तो डायबिटीज किडनी, हार्ट और महत्वपूर्ण अंगों से जुड़ी गंभीर बीमारियों का कारण बन सकती है। यही वजह है कि डायबिटीज के मरीजों को अपनी डाइट का खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। खासतौर पर मिठाई, सोडा और मीठे खाने की चीजों से दूरी बनाकर रखनी पड़ती है। लेकिन कई लोगों को लगता है कि प्राकृतिक मिठास सेहत को नुकसान नहीं पहुंचा सकती और डायबिटीज में भी इनका सेवन सही रहता है।

आर्टीफिशियल स्वीटनर और मधुमेह

बहुत से लोग स्वस्थ रहने के लिए प्राकृतिक मिठास का उपयोग करने लगे हैं, चाहे उन्हें मधुमेह हो या नहीं। शहद और गुड़ प्राकृतिक मिठास हैं। इन दोनों का उपयोग चीनी के स्थान पर किया जा सकता है। वे चीनी की तरह संसाधित नहीं होते हैं, इसलिए उनमें बहुत कम रसायन और संरक्षक होते हैं। गुड़ और शहद को सफेद और ब्राउन शुगर की तुलना में स्वस्थ माना जाता है।

क्या प्राकृतिक मिठास मधुमेह रोगियों के लिए सुरक्षित हैं?

डायबिटीज के मरीजों को मिठाइयों से दूर रहने की सलाह दी जाती है, ताकि उनका ब्लड शुगर लेवल न बढ़े। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारे द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ स्वाभाविक रूप से कार्ब्स और चीनी में समृद्ध होते हैं, जो हमारे रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने के लिए पर्याप्त हैं।

मधुमेह में गुड़

इसमें कोई शक नहीं है कि गुड़ शुगर से ज्यादा हेल्दी होता है, लेकिन डायबिटीज के मरीजों के लिए दोनों एक जैसे होते हैं। अगर मधुमेह के मरीज गुड़ का सेवन करते हैं तो उन्हें इसे बहुत कम मात्रा में खाना चाहिए।

क्या करना चाहिए?

आर्टीफिशियल स्वीटनर की जगह प्राकृतिक स्वीटनर चुनना बिल्कुल बेहतर है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप जितना चाहें उतना खा सकते हैं। हमेशा याद रखें कि सब कुछ संयम में अच्छा है, चाहे आप मधुमेह हों या नहीं। अगर आपको डायबिटीज नहीं है तो बहुत ज्यादा चीनी खाने से आपका वजन बढ़ सकता है, आप मोटापे और कई बीमारियों का शिकार हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

आयुर्वेद के मशहूर लेखक, चिकित्सक और शिक्षक डॉ. एल महादेवन का निधन

आयुर्वेद चिकित्सा (Ayurveda) में देश विदेश में मशहूर डॉ....

भारतीय न्याय संहिता में आयुर्वेद और पारंपरिक डॉक्टर्स के साथ हुआ अन्याय

बेशक मोदी सरकार के राज में पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों...

Thyroid को जड़ से खत्म करने के लिए अपनाएं आयुर्वेद और योग

आज के मार्डन समय में लोगों को बीमारियों से...