Eating on time will prevent obesity: देर से खाना बनता है मोटापे का कारण

Date:

Eating on time will prevent obesity यदि आप खाना खाते समय कुछ लापरवाही करते हैं तो इसका असर आपके पूरे स्वास्थ्य पर पड़ जाता है और आयुर्वेद खाने, उसके समय और उसकी मात्रा को लेकर शुरू से ही सचेत करता रहा है। मॉडर्न साइंस भी इस विषय पर लगातार रिसर्च कर रही है। एक नई रिसर्च के मुताबिक अगर आप देर से खाना खाते हैं तो यह आपको ना सिर्फ मोटा करेगा, बल्कि ये बीमारियों आमंत्रित करने वाला है। एक रिसर्च जनरल सेल मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित एक रिसर्च के मुताबिक यदि आप दिन में या शाम को देरी से खाना खाते हैं तो इससे भूख का स्तर कम हो जाता है और शरीर में कार्बोहाइड्रेट जमा होना शुरू हो जाता है। देर से खाना खाने के कारण शरीर में कैलोरी कम बनती होती है और इस वजह से मोटापा तेजी से बढ़ने लगता है। इस समय देश-दुनिया में लाखों-करोड़ों लोग अपने मोटापे से परेशान है और उसका मुख्य कारण खाने का समय है।

Food habits in Ayurveda: अगर बीमार नहीं होना चाहते तो भूख लगने पर कितना खाएं?

बोस्टन के ब्रिघम एंड वूमेन हॉस्पिटल के न्यूरोसाइंटिस्ट फ्रेंक शिर के मुताबिक हम उन तंत्रों का परीक्षण करना चाहते थे जो बता सकते हैं कि देर से खाना खाने से मोटापा क्यों बढ़ जाता है। हमें पता चला कि बस कुछ घंटे पहले भोजन करने मोटापे का जोखिम काफी कम किया जा सकता है। शीर के मुताबिक मोटापे की वजह से शुगर और कैंसर जैसी बड़ी बीमारियां भी हो सकती है। इसीलिए समय से खाना खाना बहुत ही महत्वपूर्ण है, हजारों सालों से आयुर्वेद भी इस बात की पुष्टि करता रहा है। ठीक समय पर खाना खाना बीमारियों को दूर रखता है, साथ आप क्या खा रहे हैं इसकी वजह से भी बीमारी दूर रखी जा सकती है।

आयुर्वेद में हज़ारों साल पहले ये तथ्य दुनिया को बताया

आयुर्वेद में 5000 सालों से खाने और समय के संबंध को बताया गया है। आयुर्वेद की सभी पुस्तकों चरक सहिंता, सुश्रुत संहिता और आष्टांगसंग्रह में जठाग्नि के प्रज्वलित होने और उसी समय भोजन करने को बार बार बताया गया है। देरी से भोजन करने से ये अग्नि शांत पड़ जाती है और इसी वजह से भोजन पूरी तरह से पच नहीं पाता है। इस अपच के कारण ही सारी बीमारियां होती है। इसमें मोटापा, शुगर, थाइराइड और कैंसर जैसी बीमारियां प्रमुख हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

आयुर्वेद के मशहूर लेखक, चिकित्सक और शिक्षक डॉ. एल महादेवन का निधन

आयुर्वेद चिकित्सा (Ayurveda) में देश विदेश में मशहूर डॉ....

भारतीय न्याय संहिता में आयुर्वेद और पारंपरिक डॉक्टर्स के साथ हुआ अन्याय

बेशक मोदी सरकार के राज में पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों...

Thyroid को जड़ से खत्म करने के लिए अपनाएं आयुर्वेद और योग

आज के मार्डन समय में लोगों को बीमारियों से...