बाल जड़ से सफेद हो गए हैं तो आयुर्वेद का करें ये उपचार, 15 दिन में काले हो जाएंगे बाल

Date:

आजकल ज्यादातर लोगों के कम उम्र में बाल काले हो जाते हैं। इसके पीछे कई कारण हैं। वहीं आयुर्वेद में कई इलाज हैं। आयुर्वेद के मुताबिक प्याज के जरिए सफेद बालों को काला किया जा सकता है। प्याज बालों के लिए एक प्रभावी घटक के रूप में जाना जाता है। बालों के लिए घरेलू उपचार में प्याज बहुत लोकप्रिय है। बालों का झड़ना हो या बालों का सफेद होना, प्याज के रस पर लोग बहुत विश्वास करते हैं। प्याज स्वस्थ और तेजी से बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए बालों को पोषण, सुरक्षा और मरम्मत में मदद करता है। बालों के लिए प्याज के फायदे किसी से छिपे नहीं हैं। कई लोग सवाल पूछते हैं कि सफेद बालों को काला करने के लिए प्याज का इस्तेमाल कैसे करें? क्या प्याज का रस भूरे बालों को काला कर देता है? अगर आप अभी भी बालों की ग्रोथ के उपाय ढूंढ रहे हैं और सफेद बालों को फिर से काला करने के टिप्स ढूंढ रहे हैं, तो यहां जानिए बालों पर प्याज लगाने के कारगर तरीके।

https://ayurvedindian.com/medical-marijuana-an-in-depth-anaylsis-on-what-17/

प्याज के रस में विटामिन सी और क्वेरसेटिन (Vitamin C and Quercetin in Onion Juice) (एक फ्लेवोनॉइड) जैसे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करते हैं और इस प्रकार हाथों पर मेलानोसाइट्स के विनाश को कम करते हैं। इसके अलावा ये एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidant) बालों के रोम के भीतर हाइड्रोजन पेरोक्साइड (hydrogen peroxide) के उत्पादन को कम करने में मदद करते हैं।

सल्फर, जो ग्लूटाथियोन नामक एक मजबूत एंटीऑक्सिडेंट एंजाइम के रूप में कार्य करता है, जो कैटालेज संश्लेषण को बढ़ावा देने में मदद करता है। बहुत अधिक कैटालसे का मतलब है बालों के कूप के भीतर हाइड्रोजन पेरोक्साइड का आसानी से टूटना। कम हाइड्रोजन पेरोक्साइड का मतलब मेलानोसाइट्स को कम नुकसान है।

प्याज के रस का उपयोग कैसे करें?

पेस्ट बनाने के लिए कुछ ताजा कटा हुआ प्याज मिलाएं।

प्याज के रस को अलग करने के लिए पेस्ट को छन्नी या मलमल के कपड़े से छान लें।

आप आंवले के रस के साथ प्याज का रस मिला सकते हैं, लेकिन यह पूरी तरह से वैकल्पिक है।

कैसे रस को अपने सिर और बालों पर लगाएं।

इसे कुछ मिनट के लिए सिर में धीरे से मालिश करें ताकि यह ठीक से अवशोषित हो जाए।

इसे लगभग 30 मिनट से एक घंटे तक छोड़ दें। टपकने से बचने के लिए शॉवर कैप पहनें।

इसे हल्के शैम्पू और पानी का उपयोग करके धो लें।

काले बाल सफेद क्यों हो जाते हैं?

हेयर फॉलिकल्स में मेलानोसाइट्स नामक कोशिकाएं होती हैं जो मेलेनिन नामक एक वर्णक यौगिक का स्राव करती हैं, जो आपके बालों को अपना प्राकृतिक रंग देती है। उम्र बढ़ने के साथ बालों के रोम के भीतर मेलानोसाइट्स की गतिविधि और एकाग्रता कम हो जाती है।

बालों को काला करने के लिए आप क्या कर सकते हैं?

एक बार जब आपके बाल अपना रंग खो देते हैं, तो आप इसे फिर से वापस पाने के लिए कई प्रयासों से गुजरते हैं। बहुत से लोग भूरे बालों को छिपाने के लिए हेयर डाई का उपयोग करते हैं, लेकिन ऐसी चीजें हैं जो आप कर सकते हैं जो भूरे बालों को रोकने में मदद कर सकते हैं। इनमें पर्याप्त पोषक तत्वों का सेवन, स्वस्थ जीवन शैली अपनाना और बालों की देखभाल करना शामिल है।

अस्वीकरण: यह सामग्री केवल सलाह सहित सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा एक विशेषज्ञ या अपने वैद्य से परामर्श करें। ayurvedindian.com इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

International Yoga day पर आयुष मंत्रालय का #YOGATECHCHALLENGECONTEST

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga day) पर आयुष मंत्रालय...

केंद्रीय आयुष मंत्री का अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का दौरा

केंद्रीय आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रताप राव जाधव ने...

Nasyam चिकित्सा के जरिए किन किन बीमारियों से पाई जा सकती है निजात

इन दिनों स्वास्थ्य के लिए आज से जुकाम अधिकांश...