Pasighat ayurveda collage: उत्तर पूर्व में आयुर्वेद का होगा विस्तार

Date:

Pasighat ayurveda collage: देश के पूर्वोत्तर राज्यों में आयुष को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार लगातार प्रयास कर रही है। केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट में 30 सीटों वाले एक नया आयुर्वेद कॉलेज स्थापित करने की घोषणा की। इस मेडिकल कॉलेज में एक 60 बिस्तरों वाला आयुर्वेद अस्पताल भी होगा।

सर्बानंद सोनेवाल ने अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट में उत्तर पूर्वी आयुर्वेद और लोक चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (एनईआईएफ़एमआर) में आज बोलते हुए कहा कि यहां सरकार आयुष का इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर करने के लिए 53.72 करोड़ रुपये के निवेश करेंगे। पासीघाट में NEIAFMR परिसर के अंदर 30 छात्रों के साथ-साथ 60 बिस्तरों वाले आयुर्वेद अस्पताल के साथ एक नया आयुर्वेद कॉलेज स्थापित किया जाएगा, जिसमें मौजूदा क्षमता के अलावा 86 पदों का प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। निकट भविष्य में एक शैक्षणिक खंड, एक बालक छात्रावास, एक बालिका छात्रावास, खेल परिसर भी यहां तैयार कराया जाएगा।
सोनोवाल ने कहा, “लोक चिकित्सा पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों और विश्वासों का मिश्रण है। पूर्वोत्तर में, हमारे पास लोक चिकित्सा की एक मजबूत संस्कृति है, जिसे वैज्ञानिक तरीके से संरक्षित नहीं किया गया है। हम अब वैदिक युग से चिकित्सा को संरक्षित करने और समृद्ध करने की ओर प्रयास कर रहे हैं। मुझे यहां एक अस्पताल के साथ नए आयुर्वेद कॉलेज की स्थापना की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। यह समृद्ध पारंपरिक ज्ञान को संरक्षित और आगे बढ़ाने के लिए NEIAFMR के माध्यम से हमारे प्रयास को और मजबूत करने जा रहा है। ”
पूर्वोत्तर क्षेत्र में आयुष क्षेत्र के प्रसार के लिए भविष्य की योजनाओं के बारे में बताते हुए, सोनोवाल ने आगे कहा, “इस क्षेत्र में हमारे आयुर्वेद कॉलेजों को मजबूत करने के अलावा, कुछ अन्य महत्वपूर्ण संस्थान जैसे क्षेत्रीय कच्चे ड्रग रिपोजिटरी (आरआरडीआर) और संग्रहालय, स्टेट ऑफ आर्ट पंचकर्म उपचार और अनुसंधान केंद्र, और पैरामेडिकल टीचिंग सेंटर को इस क्षेत्र में नियत समय में स्थापित करने की योजना है।”
उत्तर पूर्वी लोक चिकित्सा संस्थान (एनईआईएफएम), पासीघाट, जिसका नाम बदलकर उत्तर पूर्वी आयुर्वेद और लोक चिकित्सा अनुसंधान संस्थान कर दिया गया है, भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के तहत एक राष्ट्रीय संस्थान है। 40 एकड़ क्षेत्र में फैले संस्थान की स्थापना को 21 फरवरी, 2008 को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूर किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

Benefits of Moringa: किन किन बीमारियों में मोरिंगा हो सकता है रामबाण इलाज

आयुर्वेद की सबसे शक्तिशाली सब्जी मोरिंगा है जिसे मल्टीविटामिन...

World Ayurveda Congress के लिए मांगे गए रिसर्च पेपर्स

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में 12 से 15 दिसंबर...

New Ayush education policy की तैयारियों में जुटा आयुष मंत्रालय

New Ayush education policy: आयुष क्षेत्र में शिक्षा को...

अगर आप AC या Cooler में सोते हैं तो हड्डियों की बीमारी से कैसे बचें?

पूरे देश भर में मानसून लगभग पहुंच गया है,...