Skin taning: आयुर्वेद के जरिए त्वचा को निखारने के पांच तरीके

Date:

देश में चेहरे को गोरा करने के लिए बहुत ही महंगी महंगी क्रीम आती हैं, जिनके इस्तेमाल से कई बार चेहरे की संवेदनशील त्वचा को नुकसान भी हो जाता है। लेकिन आज हम आपको आयुर्वेद के पांच ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं, जोकि ज्य़ादातर भारतीय घर में ही उपलब्ध होते हैं और बहुत ही प्राकृतिक भी हैं।

नींबू का रस और शहद: नींबू का रस एक प्राकृतिक ब्लीच है जो त्वचा को गोरा करने में मदद कर सकता है। शहद एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र है जो आपकी त्वचा को हाइड्रेटेड रखने में मदद करेगा। नींबू के रस और शहद का फेस पैक बनाने के लिए नींबू के रस और शहद को बराबर मात्रा में मिलाएं। पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसे ठंडे पानी से धो लें.

पपीता और शहद: पपीते में एंजाइम होते हैं जो त्वचा को एक्सफोलिएट करने और मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद कर सकते हैं। शहद एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र है जो आपकी त्वचा को हाइड्रेटेड रखने में मदद करेगा। पपीता और शहद का फेस पैक बनाने के लिए आधा कप पके पपीते को मैश करें और इसमें 1-2 बड़े चम्मच शहद मिलाएं। पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 20-30 मिनट के लिए छोड़ दें। इसे ठंडे पानी से धो लें.

हल्दी और दूध: हल्दी एक प्राकृतिक एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट है जो त्वचा को शांत करने और उसकी रक्षा करने में मदद कर सकती है। दूध में लैक्टिक एसिड होता है, जो मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद कर सकता है। हल्दी और दूध का फेस पैक बनाने के लिए 1 चम्मच दूध में 1 चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं। पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसे ठंडे पानी से धो लें.

बेसन और दही: बेसन एक प्राकृतिक एक्सफोलिएंट है जो मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद कर सकता है। दही में लैक्टिक एसिड होता है, जो त्वचा का रंग निखारने में मदद कर सकता है। बेसन और दही का फेस पैक बनाने के लिए 2 बड़े चम्मच बेसन में 1 बड़ा चम्मच दही मिलाएं। पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसे ठंडे पानी से धो लें.

एलोवेरा जेल: एलोवेरा जेल एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर और शीतलक है, जो त्वचा को शांत और हाइड्रेट करने में मदद कर सकता है। इसमें एंजाइम भी होते हैं जो त्वचा को एक्सफोलिएट करने और मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद कर सकते हैं। टैनिंग हटाने के लिए एलोवेरा जेल का उपयोग करने के लिए, अपनी त्वचा पर पर्याप्त मात्रा में जेल लगाएं और इसे 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसे ठंडे पानी से धो लें.

अगर क्रीम ही चुननी है तो ध्यान रखें

आयुर्वेदिक टैन हटाने वाली क्रीम चुनते समय, ऐसी क्रीम का चयन करना महत्वपूर्ण है जो पूरी तरह से प्राकृतिक अवयवों से बनी हो और जिसमें कोई नुकसान पहुंचाने वाला केमिकल ना हो। आपको किसी भी नई क्रीम का उपयोग करने से पहले अपनी त्वचा पर पैच परीक्षण अवश्य करना चाहिए, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपको किसी भी सामग्री से एलर्जी नहीं है।
आप इनमें से किसी भी आयुर्वेदिक टैन हटाने वाले उपाय का उपयोग अपने चेहरे और शरीर पर कर सकते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपको किसी भी सामग्री से एलर्जी नहीं है, किसी भी नए उपाय का उपयोग करने से पहले अपनी त्वचा पर पैच परीक्षण अवश्य करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related