जानिए कैसे करें नकली साबूदाना की पहचान, क्या आप भी व्रत के दौरान करते हैं इसका इस्तेमाल?

Date:

नवरात्रि का त्योहार चल रहा है और इस दौरान लोग व्रत के दौरान कई चीजें पकाकर खाते हैं। साबूदाना का इस्तेमाल व्रत के दौरान लोग साबूदाना खीर, खिचड़ी और टिक्की बनाकर खाते हैं। इसके अलावा और भी कई चीजें बनाकर खाई जाती हैं। लेकिन, ध्यान देने वाली बात यह है कि जिस साबूदाना से आप इतनी सारी चीजें बना रहे हैं, अगर वह नकली निकले। हां, साबूदाना मिलावटी हो सकता है। दरअसल, नकली साबूदाना बनाने में सोडियम हाइपोक्लोराइट, कैल्शियम सल्फ्यूरिक एसिड, हाइपोक्लोराइट, ब्लीचिंग एजेंट और फॉस्फोरिक एसिड जैसे रसायनों का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में इन्हें खाना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है और पेट के इंफेक्शन का कारण बन सकता है। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि हम जानते हैं कि समय पर नकली साबूदाना की पहचान कैसे करें।

  1. साबूदाना चबाने की कोशिश करें

यदि आप असली साबूदाना खाते हैं, तो इसका स्वाद चावल की तरह हो सकता है, जो आपके दांतों पर चिपचिपा लग सकता है। क्योंकि साबूदाना चबाने से स्टार्च निकलता है जो प्रकृति में चिपचिपा होता है। लेकिन, नकली साबूदाना चबाने से आपको किरकिरापन महसूस हो सकता है।

  1. साबूदाना जलाकर देखें

जब असली साबूदाना पकाया जाता है, तो यह गाढ़ा हो जाता है। ऐसे में जब आप इसे आग में जलाएंगे तो यह फूल जाएगा। लेकिन, नकली साबूदाना में यह बात नहीं होगी। अगर आप नकली साबूदाना जलाते हैं तो उसमें धुआं होगा और यह राख का रूप ले सकता है। जबकि, वास्तव में यह एक समस्या नहीं होगी, बल्कि, यह अच्छी गंध होगी।

  1. इसे पानी में डालने की कोशिश करें

इसे पानी में डालने के बाद साबूदाना चिपचिपा हो जाएगा और इस पानी में स्टार्च दिखाई देने लगेगा। लेकिन, नकली साबूदाना को घंटों पानी में डालने के बाद भी आपको पानी में स्टार्च नजर नहीं आएगा। इसलिए, साबूदाना की शुद्धता को सही ढंग से पहचानें और उसके बाद ही इसका सेवन करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related