पेट में गैस, एसिडिटी, कब्ज के लिए आजमाएं ये पांच घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे

Date:

सामान्य जीवन में कई बार ऐसा होता है कि एसिडिटी और कब्ज जैसी समस्याएं परेशान करने लगती हैं। ख़राब खाना खाने या ज़्यादा खाने से पेट फूलना, पेट दर्द और कभी-कभी गैस बनने की शिकायत हो जाती है। पेट की इन आम समस्याओं में ये घरेलू नुस्खे बहुत काम आते हैं। हालांकि ये उपाय सिर्फ घरेलू नहीं बल्कि पूरी तरह से आयुर्वेदिक हैं और इसका फायदा पेट को मिलता है। जिससे पेट की आम समस्या से जल्द ही छुटकारा मिल जाता है।

कब्ज में घी और नमक का पेय पियें
अगर आपको कब्ज की समस्या अक्सर परेशान करती है तो देसी घी और नमक से बना पेय पीएं। इससे आपको कब्ज की समस्या से राहत मिलेगी। रात को खाना खाने के करीब एक घंटे बाद इस ड्रिंक को पीने से कब्ज की समस्या नहीं होती है. इस ड्रिंक को कैसे तैयार करें
देशी घी
काला नमक
गर्म पानी
गुनगुने पानी में एक चम्मच देसी घी और आधा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं और इस पेय को धीरे-धीरे पिएं। यह प्राकृतिक घरेलू उपाय आपके बहुत काम आएगा।

यह पानी पेट फूलने की समस्या को खत्म कर देगा
अगर खाने के कई घंटों बाद भी पेट फूला रहे और पेट फूला हुआ महसूस हो तो गर्म पानी पीने से राहत मिलती है। गर्म पानी में एक चम्मच सौंफ मिलाकर पीने से पेट फूलने की समस्या दूर हो जाती है। खाना खाने के बाद सौंफ का पानी या सौंफ की चाय पीने से फायदा होता है।

पेट में गैस
अगर आपको एसिडिटी की समस्या सताती रहती है या खट्टी डकारें आती हैं तो छाछ पिएं। यह एसिड रिफ्लक्स और अपच की समस्या को दूर करने में मदद करता है।

  • एक चौथाई कप दही में एक गिलास पानी डालकर मिला लें। इसमें सेंधा नमक, भुना जीरा पाउडर, दो-तीन बूंद अदरक और पुदीना की पत्तियां डालकर अच्छे से मिक्स कर लीजिए. एसिडिटी की समस्या के लिए छाछ एक आयुर्वेदिक उपाय है।

डायरिया या दस्त के लिए लौकी सर्वोत्तम है
अगर दस्त की समस्या है तो एक कप पानी में अदरक की कुछ बूंदें डालें। इसके साथ ही सौंफ डालकर उबाल लें। इस चाय को पीने से दस्त की समस्या में राहत मिलती है।

अपच की समस्या
अपच की समस्या अक्सर परेशान करती है, इसलिए खान-पान में सुधार करना जरूरी है। आहार में फल और सब्जियाँ शामिल करें। सब्जी का सूप पियें. इसमें लहसुन, अदरक, तुलसी के पत्ते डालें। ये सभी जड़ी-बूटियां अपच की समस्या को दूर करने में मदद करती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

आयुर्वेद के मशहूर लेखक, चिकित्सक और शिक्षक डॉ. एल महादेवन का निधन

आयुर्वेद चिकित्सा (Ayurveda) में देश विदेश में मशहूर डॉ....

भारतीय न्याय संहिता में आयुर्वेद और पारंपरिक डॉक्टर्स के साथ हुआ अन्याय

बेशक मोदी सरकार के राज में पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों...

Thyroid को जड़ से खत्म करने के लिए अपनाएं आयुर्वेद और योग

आज के मार्डन समय में लोगों को बीमारियों से...