Yoga for Digestion : पाचन को बेहतर करने के लिए योग​

Date:

कब्ज की समस्या तो बहुत आम बात है मगर क्या आप जानते है सुन्दर दिखने से भी ये समस्या काम हो सकती है| सुन्दर त्वचा (glowing skin) आपके भीतर के अनुभव को प्रक्षेपित करती है। जब आपका पाचन (Digestion ) तंत्र अच्छे से काम करता है, भोजन अच्छे से अवशोषित होता है, अपशिष्ट पदार्थ का उत्सर्जन ठीक से होता है। इस प्रक्रिया में उत्पन ऊर्जा सभी आतंरिक अंगो को अच्छी स्थिति में रखती है। आपकी त्वचा को भी सीधे लाभ मिलता है और ये अच्छे से पुष्ट दिखती है और दमकती है।

पाचन (Digestion ) को सुचारु करने के लिए कुछ आसन और प्राणायाम:

1. पवनमुक्तासन | Pavanamuktasana (Wind Relieving Pose)

अपच को ठीक करने में मदद करता है।

2. वज्रासन | Vajrasana (Kneeling Pose)

शरीर (Body) के विषहरण में मदद करता है फलतः पाचन सुचारु होता है।

vajrasana

3. धनुरासन | Dhanurasana (Bow Pose)

धनुरासन तनाव मुक्ति का रामबाण है, पूर्ण विश्राम (Full Rest) देता है। ये विश्राम दानों (Acne) को रोकता है।

Dhanurasana

4. नाड़ी शोधन प्राणायाम | Nadi Shodhan Pranayama (Alternate Nostril Breathing Technique)

नाड़ी शोधन सहनशीलता बढ़ाता है और स्वस्थ और दमकती त्वचा के विकास के लिए सहायक है।

Nadi Shodhan

5. कपाल भाती प्राणाया | Kapalbhati Pranayama (Skull Shining Breathing Technique)

पेट (Stomach) साफ करने में मदद करता है और शरीर के विषहरण में बहुत उपयोगी है। ये त्वचा को तरोताजा (Fresh Skin) और चमकता हुआ बनाता है।

6. सूर्य नमस्कार | ​Surya Namaskar (Sun Salutation)

सूर्य नमस्कार के कुछ राउंड करने से शरीर से विषहरण होता है साथ ही त्वचा में प्राकृतिक निखार (Natural Glow ) आ जाता है।

surya namaskar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

आयुर्वेद के मशहूर लेखक, चिकित्सक और शिक्षक डॉ. एल महादेवन का निधन

आयुर्वेद चिकित्सा (Ayurveda) में देश विदेश में मशहूर डॉ....

भारतीय न्याय संहिता में आयुर्वेद और पारंपरिक डॉक्टर्स के साथ हुआ अन्याय

बेशक मोदी सरकार के राज में पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों...

Thyroid को जड़ से खत्म करने के लिए अपनाएं आयुर्वेद और योग

आज के मार्डन समय में लोगों को बीमारियों से...