इन लोगों को गलती से भी देसी घी नहीं खाना चाहिए, फायदे की जगह नुकसान होगा

Date:

देसी घी में हेल्दी फैट होता है, लेकिन यह कब्ज के इलाज और त्वचा को ग्लोइंग बनाने में फायदेमंद होता है। लेकिन कुछ लोगों को गलती से भी घी का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे बीमारी बढ़ जाती है। घर का बना शुद्ध घी खाने के कई फायदे होते हैं। यह कब्ज और जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, इसका स्वाद खाने के स्वाद को और बढ़ा देता है। भले ही घी खाने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि यह सभी को समान रूप से लाभ पहुंचाए। अगर आप अपनी डेली डाइट में देसी घी को शामिल करते हैं तो जानिए किन लोगों को घी खाने से बचना चाहिए. अन्यथा यह फायदे की जगह नुकसान पहुंचाने लगता है।

खराब पाचन

वैसे तो घी को कब्ज के लिए बहुत फायदेमंद बताया गया है, लेकिन अगर आप खराब पाचन से पीड़ित हैं और खाना पचाने की प्रक्रिया धीमी है, तो घी को अपनी डाइट में बिल्कुल भी शामिल न करें।

फैटी लीवर या लिवर सिरोसिस

अगर आप नॉन अल्कोहोलिक फैटी लिवर के मरीज हैं या फिर लिवर सिरोसिस जैसी गंभीर बीमारी के शिकार हो गए हैं तो इन परिस्थितियों में घी का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। फैटी लीवर की समस्या होने पर घी जहर की तरह काम करता है और नुकसान पहुंचाता है।

मौसमी बुखार होने पर घी न खाएं

अगर आप सर्दी या मौसमी बुखार से पीड़ित हैं तो देसी घी बिल्कुल न खाएं। मौसमी बुखार और जुकाम में शरीर में कफ की मात्रा बढ़ जाती है और घी इस कफ को और भी ज्यादा बढ़ाने लगता है। इसलिए खांसी और बुखार होने पर घी का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को नहीं खाना चाहिए घी

अगर आप हाई ब्लड प्रेशर और हाइपरटेंशन से पीड़ित हैं तो अपनी डाइट में देसी घी को शामिल न करें. हेल्दी फैट होने के बावजूद यह नसों को ब्लॉक करने लगता है जिसकी वजह से हार्ट अटैक का खतरा रहता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related